Health Fitness & Wellbeing



Saturday, October 21, 2017

10 नेचुरल फ़ूड जो रखेंगे आपका दिल हैल्थी

आपका ब्लॉगर दोस्त अपने सभी प्यारे मित्रों, दोस्तों और इस ब्लॉग के पाठकों और चाहने वालों का दिल से स्वागत, नमस्कार और अभिनन्दन करता है। उम्मीद करता हूँ की आप सभी प्रसन्नचित व स्वस्थ्य होंगे और अपने समय का भरपूर आनंद ले रहे होंगे।



मेरे प्यारे दोस्तों आपका प्यार और अपनापन देखकर मुझे बहुत ख़ुशी होती है जो मुझे आप सभी से जोड़ी रखती है।  साथ ही आपके लिए नये-नये और रोचक जानकारी प्रस्तुत करने की प्रेरणा देती है।

  

हमेशा की भांति मैं आज भी आपके लिए एक नया विषय लाया हूँ और वह है उन 10 नेचुरल फूड्स के बारे में जिन्हे अगर हम अपनी रोज़मर्रा की डाइट में शामिल कर ले तो यह हमारे शरीर के अति महत्वपूर्ण अंग "ह्रदय" को खून की सप्लाई करने वाली आर्टरीज में होने वाले ब्लॉकेज से हमें हार्ट डिजीज व स्ट्रोक जैसी गंभीर बीमारियों से बचता है और साथ है कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कण्ट्रोल में रखता है। अगर हम इन 10 सुपर फूड्स को रेगुलर खाते है तो यह फूड्स कभी भी हमारे दिल को बीमार नहीं होने देंगे।
10 नेचुरल फ़ूड जो रखेंगे आपका दिल हैल्थी



अब हम विस्तार से उन 10 फूड्स के बारे में बात करेंगे जो हमारे दिल को हमेशा के लिए स्वस्थ्य और सेहतमंद रखते है- 



1.  दालचीनी:- इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स खून में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करके रक्त की नलिकाओं में ब्लॉकेज या फिर कहे तो प्लाक होने से बचता है। 



2.  लहसुन:- इसमें एलिसिन नामक कम्पाउंड होता है जो ब्लड क्लॉटिंग से बचता है।  साथ ही ब्लड कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल में रखता है।  जिससे कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर नार्मल रहते है।  



3.  अनार:- इसमें फायटोकेमिकल और नाइट्रिक ऑक्साइड होते है जो ब्लॉक हुई रक्त की नलिकाओं को खोल कर खून की सप्लाई को सामान्य करता है।  



4.  ग्रीन टी:- इसमें कैटेकिन नाम का कंपाउंड पाया जाता है जो हमारी रक्त की नलिकाओं में ख़राब कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और जिसकी वजह से आर्टरीज स्वस्थ्य और हैल्थी रहती है।
  


5.  हल्दी:- यह आर्टरीज में होने वाली सूजन को कम करता है जिससे आर्टरीज कड़क होने बचता है।  जिससे खून की सप्लाई बिना किसी बाधा के होती रहती है।  



6.   ब्रोकली:- इनमे विटामिन-K होता है जो कैल्शियम को रक्त की नलिकाओं को डैमेज करने से रोकता है।  



7.  अलसी:- इसमें विटामिन-C होता है जो रक्त की नलिकाओं को अंदर से साफ़ रखता है जिससे शरीर में खून का सर्कुलेशन बेहतर और सही तरीक़े से चलता रहता है।  



8.  संतरा:- इसमें भी विटामिन-C होता है जो आर्टरीज को अंदर से साफ़ रखता है और शरीर के अंदर होने वाले खून के बहाव को बेहतर बनता है।  



9.  तरबूज़:- इसमें एल-सिट्रुलिन नाम का एमिनो एसिड होता है जो ब्लड प्रेशर को नार्मल रखता है और साथ ही आर्टरीज भी स्वस्थ्य और हैल्थी रहती है।  



10.  टमाटर:- टमाटर को पकाने पर इनमें से लइकोपीन नाम का पिग्मेंट निकलता है जो ब्लड में ख़राब कोलेस्ट्रॉल को कम करता जिससे ह्रदय स्वस्थ्य और सेहतमंद रहता है।
  


उन 10 नेचुरल सुपर फूड्स जो आपके दिल को कभी बीमार नहीं होने देंगे के बारे में अधिक जानने के लिए  नीचे दिए गए वीडियो के लिंक को क्लिक करे और साथ ही अपने दोस्तों, मित्रों और घर परिवार के सभी सदस्यों के साथ शेयर करे और इस पोस्ट के बारे में अपने विचार हमे ईमेल या फिर ब्लॉग में कमेंट करके बताये।

 

Sunday, October 15, 2017

आम के पेड़ के 10 फ़ायदे



नमस्कार! प्रिये मित्रोंमेरे परम प्रिये पाठक दोस्तों और आप सभी को मेरा और आपके अपने इस सेहतमंद स्वास्थ्य के फिटनेस टिप्स ब्लॉग में अनेकों बार फिर से अभिवादन और स्वागत करता हूँ। 

 

दोस्तों मैं आशा करता हूँ की आप सभी का स्वास्थ्य एक दम बढ़िया और सेहतमंद होगा।  ब्लॉग पर पोस्ट काफी समय बाद लिखने के लिए आप से क्षमा और माफ़ी चाहता हूँ क्योकि मेरा एक मात्र डेस्कटॉप कंप्यूटर एक बार फिर से ख़राब हो गया था जिसको ठीक कराने में काफी दिन लग गए और जिस वजह से आप सभी से फिर से जुड़ने का मौका नहीं पाया। 

 

आईये तो शुरू करते है आज की पोस्ट के बारे में कुछ बातें जो मैं आप सभी के साथ बांटना चाहूंगा। दोस्तों इस बार भी हमेशा की भांति मैं आप सभी के लिए लाये है एक बार फिर से नया विषय जिस पर मैं आप सभी का ध्यान आकर्षित करूँगा और वह है "आम के पेड़ से होने वाले 10 फायदों" क्या आप जानते है? आम के पेड़ के साथ साथ उसकी पत्तियाँ, फल और गुठलियां हम सभी की सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है। 


आम के पेड़ के 10 फ़ायदे




आम के पेड़ की पत्तियों में एंटी-हाइपोटेंसिव और टैनिन होता है जो हमें और हमारी बॉडी को हैल्थी और फिट रखता है।  आम में एंटी-ऑक्सीडेंटस, विटामिन-C, B, A और पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाए जाते है। आम की पतियों में Anti-Hypertensive तत्व होते है जो हमारी ब्लड वेसल्स को मजबूत करती है और नसों से सम्बंधित बीमारी दूर करती है।
  


अब हम आम के पेड़ से होने वाले उन 10 फायदों के बारे में जिक्र करेंगे जिनसे आप भी अपने शरीर को फायदा पहुँचा सकते है।
  

1.  कमजोरी:-  अगर किसी व्यक्ति को कमजोरी महसूस होती है तो वह एक गिलास दूध में एक पक्का हुआ आम का रस मिलकर पीना चाहिए।  इससे शरीर को प्रयाप्त मात्रा में एनर्जी मिलती है और कमजोरी दूर होती है।
  


2.  खांसी:- अगर कोई व्यक्ति खांसी से पीड़ित है तो उसे पके आम को हल्की आंच पर गर्म कर ले और फिर ठंडा होने पर इसे खाये। खांसी में तुरन्त आराम मिलेगा। 
  


3.  खून की कमी:-  एक गिलास दूध में एक पका आम का रस को मिला ले। फिर एक चम्मच शहद (Honey) मिलाकर पीने से शरीर में खून की कमी जल्दी ही दूर होगी। 



4.  दांत और मसूड़े:- आम की गुठली के अंदर के बीज को पीस लेवे।  इस पाउडर से हमेशा ब्रश करने से दांत और मसूड़े मजबूत और हैल्थी होते है।
  


5.  डायबिटीज:-  आम के पत्तों में टैनिन नाम का तत्व होता है जो हमारे शरीर के ब्लड शुगर लेवल को कण्ट्रोल में रखता है।  जिससे डायबिटीज होने की आशंका भी कम हो जाती है।
  


6.  किडनी स्टोन:- आम के पेड़ की पत्तियों को छाया में सूखा कर उसका पाउडर बना लेवे। रेगुलर रूप से एक गिलास पानी में एक चम्मच तैयार पाउडर डाल कर पीये।  किडनी स्टोन के प्रॉब्लम जल्दी ही हमेशा के लिए दूर हो जाएगी।
  


7.  कान का दर्द:- आम के पेड़ की पत्तियों का रस निकाल लेवे। फिर इसे हल्की आंच पर गर्म करे।  गुनगुना होने पर इसकी 3-4 बून्द कान में डाल ले।  कान के दर्द से तुरंत राहत मिलेगी।
  


8.  हाई ब्लड प्रेशर:- आम के पेड़ की पत्तियों में एंटी-हाइपोटेंसिव गुण होते है। यह हमारे शरीर के ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करके हाई BP की प्रॉब्लम से राहत दिलाती है।  रेगुलर उपयोग करने से इस बीमारी से हमेशा के लिए बचा जा सकता है।
  


9.  थ्रोट इन्फेक्शन:- आम के पेड़ की कुछ पत्तियों को जला लेवे और उसका धुआँ को सूंघे।  इससे गले के इन्फेक्शन बहुत जल्दी ठीक होता है और आगे दुबारा होने का खतरा भी टल जाता है।
  


10.  पाचन क्रिया:- आम के पेड़ के 6-7 पत्तियों को गर्म पानी में डाल कर रातभर के लिए रख देवे।  फिर सुबह इस पानी को छान कर पी लेवे।  आपकी पाचन शक्ति सुधरती है और इससे खाना जल्दी व अच्छी तरह पचता है।
  


आम के पेड़ से होने वाले फायदों के बारे में ज्यादा जानने के लिए नीचे दिए गए वीडियो के लिंक को क्लिक करे और अधिक से अधिक मात्रा में शेयर करे।  इस ब्लॉग और पोस्ट के बारे में अपने विचार हमें जरूर बताये।  आप हमें ईमेल कर सकते है या फिर वीडियो में अपने कमेंट के द्वारा भी अपने विचार लिख सकते है। 



Saturday, September 30, 2017

ब्लड क्लॉटिंग के 9 संकेत

दोस्तों और प्यारे मित्रों आप सभी का आपके अपने ब्लॉग में एक बार फिर से स्वागत है। आशा करता हूँ आप स्वस्थ्य और तंदुरुस्त होंगे व जीवन का भरपूर आनंद ले रहे होंगे। 



दोस्तों आज हम आपके लिए कुछ नयी बात लाया हूँ जिसको आज हम आपने ब्लॉग में विस्तार से बताएँगे।  आमतौर पर जब भी हमें किसी प्रकार की बाहरी चोट लगती है तो खून बहने लगता है और कुछ ही मिनटों में आपने आप ब्लड क्लॉटिंग के जरिये खून बहना बंद भी हो जाता है।  यह एक प्रकार का हमारी बॉडी का रिएक्शन होता है जो काम करता है।
ब्लड क्लॉटिंग के 9 संकेत
  
कभी-कभी लकिन यह ब्लड क्लॉटिंग हमारे शरीर में अंदर ही अंदर बिना किसी चोट और कट के भी होने लगती है जो हमारे शरीर को अंदुरुनी नुकसान पहुंचाने लगती है। अगर ऐसा होता है तो यह किसी बीमारी का संकेत भी हो सकता है।  



ब्लड क्लॉटिंग हमारे शरीर में कही भी हो सकती है जैसे हार्ट, ब्रेन, हाथ या फिर पैर में या किसी और भाग में।  अगर ऐसा होता है तो यह हमारे शरीर को हार्ट अटैक, ब्रेन स्ट्रोक, लंग्स डिजीज या फिर स्ट्रोक की संकेत और निशानी हो सकते है। 

  

जाने-माने हॉस्पिटल के डॉक्टर के अनुसार यह ब्लड क्लॉटिंग के संकेत हमें किसी सीरियस बीमारी की तरफ इशारा करते है। तो आईये अब हम उन संकेतों के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे जो हमें दिखते है और किसी गंभीर बीमारी के होने का संकेत देते है।  




1.  स्वेलिंग:-  हमारे शरीर में अगर किसी हिस्से जैसे हाथ-पैर में सूजन हो जाती है तो उसे कभी अनदेखा न करे।  क्योकि अगर शरीर के अंदर कोई बड़ा क्लॉट बन गया है तो पूरे शरीर में स्वेलिंग हो सकती है।  



2.  चेस्ट पैन:- अगर किसी व्यक्ति के चेस्ट में पैन रहता है और हार्ट बीटिंग भी जल्दी-जल्दी चल रही है तो यह संकेत लंग्स में क्लॉट होने के संकेत भी हो सकते है।  



3.  पेट दर्द:- अगर किसी व्यक्ति को पेट में दर्द, बदहजमी या फिर स्टूल के साथ अगर खून आता है तो यह पेट में किसी हिस्से में ब्लड क्लॉटिंग का संकेत भी हो सकता है।
  


4.  साँस लेने में परेशानी:- अगर किसी व्यक्ति के चेस्ट में बार-बार पैन और पसीना आये और साँस फूलने लगे तो यह हार्ट में क्लॉटिंग का कारण भी हो सकता है।  



5.  नसों का दिखना:- हाथ या फिर पैर में अगर कही पर नीली या फिर लाल रंग की नसे नज़र आये तो यह हाथ या फिर पैर में ब्लड क्लॉटिंग की निशानी हो सकती है।  



6.  एक तरफा कमजोरी:- अगर किसी व्यक्ति को अपने शरीर में अंदुरुनी एक तरफ़ा कमजोरी महसूस हो और बोलने व देखने में किसी प्रकार की दिक्कत आ रही हो तो यह ब्रेन में किसी ब्लड क्लॉट की तरफ इशारा हो सकता है।  



7.  नील पड़ना:- अगर किसी व्यक्ति के हाथ या फिर पैर में अचानक नील पड़े और उसके साथ ही उस जगह पर ठंडा महसूस हो तो यह उस स्थान में ब्लड क्लॉट होने की आशंका को मजबूत करता है।  



8.  पैर सुन्न होना:- पैर अगर पूरी तरह सुन्न होने लगे और साथ ही झुनझुनी रहने लगे तो यह संकेत पैर में ब्लड क्लॉट की निशानी का संकेत हो सकता है।  



9.  बुखार और दर्द:- अगर किसी व्यक्ति के पेट में एक तरफा दर्द, बुखार रहे और ब्लड प्रेशर भी ज्यादा रहे तो यह किडनी में किसी प्रकार के ब्लड क्लॉट होने की आशंका को बल देता है।
  


ऊपर बताये गए संकेतों को वीडियो की मदद से देखने के लिए नीचे दिए गए वीडियो के लिंक को क्लिक करे और ज्यादा से ज्यादा संख्या में शेयर करे।  साथ ही इस पोस्ट के बारे में अपने विचार हमें कमेंट बॉक्स में लिख कर या फिर हमारी ईमेल आईडी पर भेजे।