Health Fitness & Wellbeing



Sunday, August 20, 2017

ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल करने के 12 टिप्स


दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से स्वागत और अभिनन्दन करता हूँ आपके अपने स्वास्थ्य और फिटनेस से सबंधित ब्लॉग में।  पूरे विश्व के सभी देशों के अपने मित्रों और दोस्तों का इस ब्लॉग "सेहतमंद स्वास्थ्य के फिटनेस टिप्स" में आप सभी का बहुत गर्म जोशी से स्वागत और नमस्कार करता हूँ।  इसके साथ ही अपने समस्त विश्व में इस ब्लॉग को चाहने और पढ़ने वाले पाठकों का धन्यवाद भी देता हूँ क्योकि इतने कम समय में आप सभी का मुझे और आपके इस ब्लॉग को साथ, भरोसा और प्यार मिला जिसके लिए मैं आपके ब्लॉग का ब्लॉगर "अखिलेश जैन" आपका आभार प्रगट करता हूँ।


  

मेरे प्यारे मित्रों और दोस्तों आज के दिन हम आपके लिए लाये है एक बहुत ही महत्वपूर्ण और जरुरी विषय जिस पर हम चर्चा करेंगे।  वह विषय है ब्लड प्रेशर को किस प्रकार कण्ट्रोल किया जाये जिससे हम और आप एक स्वस्थ्य जीवन जी सके और साथ ही उसका पूरे जोश से आनंद ले सके।  मित्रों आज मैं अपने इस पोस्ट में बात करूँगा उन 12 तरीकों की जिनसे आप अपना बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल कर पायेंगे और हाँ आज बताये गए इन तरीकों में आपको किसी प्रकार की कोई दवा की जरुरत नहीं पड़ेगी।





ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल करने के 12 टिप्स



जैसा की हम सभी जानते है की BP को एक प्रकार का साइलेंट किलर माना गया है, क्योकि यह बिना कोई चेतावनी या फिर सिम्पटम्स दिखाए बिना अंदर ही अंदर कई प्रकार की जानलेवा बिमारियों को जन्म दे देता है। यह पोस्ट उन सभी के लिए है जो BP की दवाइयां लेते लेते थक गए है और इस बीमारी का कोई दूसरा विकल्प या अल्टरनेटिव की तलाश कर रहे है। अब हम शुरू करते है उन 12 तरीकों का उल्लेख करना, जिनको आजमाकर आप अपने लम्बे समय से चल रही इस BP की बीमारी को दूर कर सकते है-   



1.  शराब और स्मोकिंग न करे:-  दोस्तों अगर आप अपने को BP की बीमारी से हमेशा के लिए छुटकारा पाना चाहते है तो आज के बाद कभी भी शराब न पीये और अगर स्मोकिंग करते है तो उसे हमेशा के लिए छोड़ दे।  शराब और स्मोकिंग करने से शरीर में कोर्टिसोल नाम का स्ट्रेस हॉर्मोन रिलीज़ होता है जो BP को बढ़ाने में सहायक होता है।

  


2.  गाने सुने:- गाने सुनने से हमारा ब्रेन रिलैक्स फील करता है जिससे शरीर में मौजूद स्ट्रेस लेवल कम होता है।  इसके लिए आप अपने पसंद का कोई भी गाना या फिर धीमा म्यूजिक सुन सकते है और अपने BP को नार्मल रख सकते है।

  


3.  डांस:- जुम्बा और एक्वा एरोबिक्स जैसे डांस करने से बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन सही तरीके से होने लगता है। इससे BP की प्रॉब्लम को कण्ट्रोल करने में सहायता मिलती है।

  


4.  सलाद खाये:- नियमित रूप से अपनी डाइट में ज्यादा से ज्यादा सलाद, हरी पत्ते वाली सब्जी खाये। ऐसा करने से आपको नमक खाने की इच्छा कम होती है और BP कण्ट्रोल में रहता है।

  


5.  भरपूर नींद ले:- एक नार्मल व्यक्ति को 7-8 घंटे की नींद लेना जरुरी है और अगर आप कम नींद लेते है तो आपके शरीर में स्ट्रेस होर्मोनेस बढ़ने लगते है।  जिसकी वजह से BP बढ़ने लगता है।  इस प्रॉब्लम से बचने के लिए पर्याप्त नींद लेना जरुरी है।

  


6.  सोशल बने:- एक रिसर्च में पाया गया है की अगर कोई व्यक्ति लोगों से मिलता-जुलता है तो उसका स्ट्रेस लेवल कम होता है। अपनी हॉबी या फिर पसंद के लोगों से मित्रता बनाये, यह आपको BP की बीमारी से दूर रखने में सहायक होगा।

  


7.  योग और प्रायाणाम करे:- सुबह जल्दी उठ कर योग और प्रायाणाम करने से शरीर में ऑक्सीजन अंदर लेने की क्षमता बढ़ती है और इस प्रकार हम ज्यादा ऑक्सीजन अपने शरीर में पहुंचाते है। इससे भी BP की समस्या से दूर रहा जा सकता है।

  


8.  एक्सरसाइज:- अपने शरीर को फिजिकली एक्टिव और अलर्ट रखे। सुबह मॉर्निंग वॉक और फिर 15-20 मिनट तक एक्सरसाइज करे। ऐसा करने से आपके शरीर में ऑक्सीजन का इन्टेक और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है।  जो आपका BP कण्ट्रोल रखने में सहायक होता है।

  


अब हम बात करेंगे डाइट में किन खान-पान की चीजों को शामिल करना चाहिए जिससे BP को नार्मल व कण्ट्रोल में रख सके और उसमे किन चीजों को लेना और किन को नहीं लेना चाहिए, यह हम अब आपको बताएँगे। इन बातों पर अमल करके आप BP को हमेशा के लिए कण्ट्रोल कर पाएंगे और एक स्वस्थ्य और खुशमय जीवन का आनंद ले पाएंगे।

  


1.  नीबू पानी:- रोज एक गिलास नीबू पानी पिए क्योकि इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को सुधारते है और इसमें मौजूद विटामिन-C बॉडी में रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते है जिससे हम इम्युनिटी भी कहते है।

  


2.  नमक कम खाये:- नमक में सोडियम की मात्रा बहुत अधिक होती है जो BP को बढ़ने में मदद करती है।  तय करे की आप दिनभर में 2-3 ग्राम से ज्यादा नमक नहीं ले। इससे आपका BP नार्मल और कण्ट्रोल में रहेगा। 




3.  आंवला और शहद:- नियमित रूप से एक चम्मच आंवला के रस में शहद मिला कर ले। इनमें प्रचुर मात्रा में विटामिन-C और एंटीऑक्सीडेंट्स होते है जो BP को कण्ट्रोल में रखते है।

  


4.  डाइट:- अपनी डाइट में से जंक और फ़ास्ट फ़ूड को हटा दे क्योकि यह आपके BP को बढ़ाने में सहायकारी होते है।  कोशिश करे की आप इन्हे कम से कम खाये तभी आपका BP नार्मल रेंज में रह पायेगा।



  
BP को कण्ट्रोल करने और ऊपर दी गयी सभी टिप्स को वीडियो के मदद से देखने के लिए नीचे दिए गए वीडियो को क्लिक करके देखे और ज्यादा से ज्यादा अपनों से शेयर करे।  इस पोस्ट के बारे में अपने विचार और सुझाव हमे कमेंट बॉक्स में लिख कर या फिर ईमेल से पंहुचा सकते है।






Saturday, August 12, 2017

कम खाने से भी बढ़ता है वजन




दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से स्वागत है आपके अपने ब्लॉग सेहतमंद स्वास्थ्य के फिटनेस टिप्स में। आशा करता हूँ आप सभी सेहतमंद और स्वस्थ्य होंगे।  इसके साथ ही जिंदगी के हर एक पल का अपनों के साथ मिल कर आनंद ले रहे होंगे।  जी हां क्योकि कहा भी गया की शरीर स्वस्थ्य तो मन प्रसन्न।  दोस्तों अगर हमारा शरीर स्वस्थ्य है तो हम अपने जीवन के हर एक पल का आनंद ले सकते है और जिंदगी को जिंदादिल इंसान की तरह जी सकते है।
  


मित्रों जैसा देखा गया है की वजन उन लोगों का बढ़ता है जो ज्यादा खाना खाते है व व्यायाम या शारारिक श्रम नहीं करते है जिससे उन लोगों कि दिनचर्या में स्फूर्ति नहीं होती है साथ ही इस तरह के लोग अपने को स्वस्थ्य नहीं समझते है।



किसी व्यक्ति का वजन बढ़ने के कई कारण होते है। लकिन क्या आपने यह कभी सोचा है की कम खाना खाने वाले लोगों का वजन भी आश्चर्यजनक रूप से बढ़ भी सकता है।  आज हम अपने इस ब्लॉग में इसी वजह को विस्तार से आपके समक्ष लाने और समझाने का प्रयत्न करेंगे।



कम खाने से भी बढ़ता है वजन





यह तो हम सभी को पता है की ओवरईटिंग, ज्यादा कैलोरी वाला खाना, लाइफस्टाइल एक्टिव न रहने के कारणों से व्यक्ति में मोटापा बढ़ता है।  लकिन कभी कभी इन सभी कारणों से दूर रहने या फिर कहे तो इन कारणों को अवॉयड करने से भी वजन लगातार बढ़ता जाता है।  साथ ही वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी सफलता हाथ नहीं लगती है तो फिर आपको यह जानना जरुरी होना चाहिए की बढ़ते हुए वजन की वजह कुछ और ही है यानी कोई और कारण जिनकी वजह से आपका वजन काबू में नहीं रह रहा है।




प्रिये पाठकगण आपको जानकार अचम्बा होगा की कम खाना खाने से भी आपका वजन बढ़ जाता है अगर ऐसा होता है तो इसके लिए ज़िम्मेदार 10 सरप्राइसिंग कारणों का हम आज अपने इस ब्लॉग में विस्तार से जिक्र करना चाहेंगे। तो क्या है वे कारण जो तमाम कोशिशों के बाद भी कम नहीं होने दे रहे है। इन 10 कारणों को हम क्रमशः नीचे विस्तार से लिख रहे।


 1.  स्ट्रेस:- टेंशन या डिप्रेशन होने की वजह से शरीर में भूख बढ़ाने वाले होर्मोनेस बनने लगते है।  ऐसे में इनसे पीड़ित व्यक्ति सामान्यतः नार्मल डाइट से ज्यादा भी खा लेता है, जिसके फलस्वरूप उसका वजन बढ़ने लगता है।

  


2.  कम खाना:- कुछ लोग वजन कम करने के लिए डाइटिंग का सहारा भी लेते है, ऐसा करने पर शरीर का मेटाबोलिज्म धीमा हो जाता है जिसकी वजह से भी वजन बढ़ने लगता है।

  


3.  दवाइयों का साइड इफ़ेक्ट:-  कुछ बिमारियों जैसे कैंसर, बर्थ कण्ट्रोल पिल्स, स्ट्रोइड्स, एंटी-बिओटिक्स, दर्द निवारक दवा, माइग्रेन की दवाइयों के साइड इफेक्ट्स के कारण भी वजन बढ़ने लगता है।

  


4. पेट की परेशानी:- अगर व्यक्ति को कब्ज़, गैस और पेट से जुडी कोई प्रॉब्लम के कारण खाना ठीक से डाइजेस्ट नहीं हो पाता है जिसके फलस्वरूप भी वजन बढ़ने लगता है।

  


5.  नुट्रिएंट्स की कमी:- अगर शरीर में जरुरी नुट्रिएंट्स की कमी जैसे मैग्नीशियम, आयरन या फिर विटामिन-D की कमी होने पर इम्यून सिस्टम पर बुरा असर पड़ता है।  जिसकी वजह से शरीर का एनर्जी लेवल और मेटाबोलिज्म भी धीमा पड़ जाता है, जिससे वजन भी बढ़ने लगता है।




6.  बढ़ती उम्र:- उम्र बढ़ने के साथ ही शरीर का मेटाबोलिज्म धीमा पड़ने लगता है ऐसे में शरीर में मौजूद फैट बर्न होने वाली प्रक्रिया धीमी पड़ने लगती है जिसके कारण वजन बढ़ने लगता है।

  


7.  अधिक एक्सरसाइज:- वजन घटाने के लिए हम शारारिक श्रम करने लगते है लकिन कभी-कभी सही और पूर्ण कैलोरी शरीर को प्राप्त नहीं हो पाती है जिसकी वजह से एक्सरसाइज करके के बाद भूख ज्यादा लगने लगती है और ज्यादा खाने में आ जाता है।  ऐसे में भी वजन कम होने के स्थान पर बढ़ जाता है।

  


8.  नींद पूरी न होना:- अगर किसी व्यक्ति को नार्मल 7-8 घंटे की नींद नहीं आती है तो भी शरीर में भूख बढ़ाने वाले होर्मोनेस डेवेलप होने लगते है।  जिसके कारण हम ज्यादा खाना खा जाते है और  फिर वजन बढ़ने लगता है।

  


9.  ज्यादा हैल्थी फ़ूड:- अक्सर हैल्थी खाना खाते समय हम यह सोचते है की फ़ूड जिसे हम खा रहे है वह हैल्थी है यही सोच कर भी हम ज्यादा खाना खा लेते है।  जिसके कारण वजन बढ़ना शुरू हो जाता है।

  


10.  डिहाइड्रेशन:- शरीर में पानी की कमी से बॉडी का मेटाबोलिज्म स्लो अथवा धीमा पड़ जाता है।  जिसके कारण फैट बर्न होने की प्रकिया धीमी पड़ जाती है और शरीर में पाचन क्रिया से सम्बंधित प्रॉब्लम हो सकती है जिसकी वजह से बॉडी वेट बढ़ने लगता है।

 


कम खाना खाने का बावजूद आपका वजन को और बढ़ने लगता है इसके कारणों को वीडियो की मदद से जानने के लिए नीचे दिए गए वीडियो को देखे और शेयर करे।  साथ ही इस पोस्ट के बारे में अपने विचार और सुझाव कमेंट बॉक्स में लिख कर आप मुझ तक पंहुचा सकते है तो फिर देर किस बात की, जल्दी से वीडियो देखे और अपने विचारों से मुझे अवगत कराये। 




   

Monday, August 7, 2017

स्किन देती है बीमारियों के संकेत





दोस्तों आप सभी का स्वागत है आपके अपने स्वास्थ्य और फिटनेस से सम्बंधित ब्लॉग में।  आशा करता हूँ आप सभी सेहतमंद और फिट होंगे। साथ ही अपने स्वास्थय का पूरा पूरा ध्यान रख रहे होंगे।  क्योकि कहा गया है की अगर स्वास्थ्य बढ़िया है तो सब बढ़िया है।  हमारे ब्लॉग में प्रकाशित होने वाले पोस्ट्स को पढ़ कर आप अपने स्वास्थ्य को हमेशा के लिए फिट और तंदुरुस्त बना सकते है।
  



दोस्तों आज हम बात करेंगे हमारी त्वचा के बारे में।  हमारी स्किन हमें शरीर के अंदर होने वाले अच्छे और बुरे फंक्शन्स जो की नार्मल बॉडी वर्किंग से जुड़े होते है के बारे में संकेतों के माध्यम से हमको बता दे देती है। क्योकि जब बॉडी के अंदर कोई होर्मोनेस का बैलेंस बिगड़ता या खराब होता है तो सबसे पहले हमारी स्किन पर उसका प्रभाव दिखने लगता है।  हमारी स्किन शरीर के सभी महत्वपूर्ण अंगो को सुरक्षा प्रदान करती है और नमी को बचा कर रखती है।  इसके साथ है बॉडी का टेम्परेचर भी मेन्टेन करती है।





आपकी स्किन देती है बीमारियों के संकेत
  




इसी प्रकार जब भी कोई शरीर का अंग सही रूप से काम नहीं कर पाता है तो उसकी झलक हमें अपनी स्किन को देख कर जान सकते है।  जब कोई भी नार्मल बॉडी फंक्शन में कोई इम्बैलेंस होता है तो सबसे पहले संकेत हमारी स्किन हम को देती है बस जरुरत है तो उस संकेत को पहचानने और समझने की।  इसीलिए अगर आपको अपनी स्किन पर कोई भी एब्नार्मल चीज़ दिखे तो समझ लीजिये के आपके शरीर में अंदर सब कुछ नार्मल नहीं चल रहा है।




बॉडी फंक्शन में कोई भी एब्नॉर्मलिटी हमारी स्किन पर साफ़ तरह से झलकती है और संकेत देती है।  आज हम उन्ही संकेतों के बारे में बात करेंगे जो हमारी स्किन हमें देती है।  अतः जब भी आप नीचे दिए गए संकेतों में से कोई भी संकेत देखे तो उसे इग्नोर न करे। 


1.  पीलापन:- स्किन का पीलापन शरीर में खून की कमी को दर्शाता है। यह शरीर में आयरन की कमी बताता है।  अगर आपको अपनी त्वचा में पीलापन दिखे तो तुरंत डॉक्टर को कंसल्ट करे और आयरन से भरपूर डाइट लेना शुरू करे।  




2.  काले दब्बे:- गले, अंडर आर्म्स और इनर थाई पर काले पैच होने का मतलब शरीर में इन्सुलिन की अनियमितता का संकेत होता है।  इस कारण व्यक्ति को डायबिटीज होने की आशंका भी हो सकती है।  




3.   छोटे-छोटे दाने:- अगर आपको अपनी त्वचा पर छोटे-छोटे दाने दिखे जिनकी वजह से काफी खुजली होती है तो यह किसी फ़ूड या फिर मौसम की वजह से एलर्जी हो सकती है।  इसलिए अपने डॉक्टर से इस बारे में सलाह अवश्य लेवे।  




4.  ड्राई पैचेज:- इस तरह की प्रॉब्लम स्किन पर आम तौर पर ठंडो में या फिर शीत ऋतु में अधिक देखी जाती है।  जब स्किन अपनी कुदरती नमी खो देता है।  इसके साथ ही अगर व्यक्ति को कब्ज और मोटापे की शिकायत है तो यह आगे चल कर थाइराइड की प्रॉब्लम हो सकती है।  




5.  चकत्ते पड़ना:- जब भी त्वचा ज्यादा धूप में रहती है तो धूप से होने डैमेज को बचाने के लिए यह स्किन का रिएक्शन होता है।  लकिन अपने डॉक्टर से परामर्श अवश्य ले क्योकि स्किन कैंसर के शुरुआती लक्षण कुछ इसी प्रकार के होते है।  




6.   बहुत अधिक पिम्पल्स:- ये बहुत ज्यादा स्ट्रेस अथवा तनाव के कारण भी हो जाते है।  साथ ही पीरियड से पहले या फिर कम नींद आने के कारण भी पिम्पल्स हो सकते है।  यह अधिकतर ठुड्डी के आस पास अधिक पाए जाते है।  ऐसे में अपने डॉक्टर को दिखाना न भूले।  




7.   लाल पैचेज:- यह लाल पैचेज अपने शरीर के इम्यून सिस्टम में खराबी की वजह से होते है।  कभी कभी यह कंडीशन डायबिटीज की और भी इशारा करती है।
  



आपकी त्वचा आपको और क्या संकेत देती है और उन संकेतों का मतलब क्या होता है यह जानने के लिए नीचे दिए गए वीडियो क्लिप को देखे और शेयर करे और हां इस पोस्ट के बारे में आपने विचार हमें जरूर कमैंट्स के माध्यम से अवगत कराये।